Google के प्ले स्टोर से PayTM ऐप को हटा दिया गया है | Sohbat News

 

Google के प्ले स्टोर से PayTM ऐप को  हटा दिया गया है | Sohbat News


गूगल के प्ले स्टोर से पेटीएम ऐप को  हटा दिया गया है गूगल का कहना है कि पेटीएम ऑनलाइन गैंबलिंग की शर्तों का उल्लंघन किया है।  पेटीएम भारत का एक अहम स्टार्टअप  है और दावा है कि इसके महीने के तौर पर 50000000 एक्टिव यूजर्स हैं। 

गूगल ने कहा है कि ऑनलाइन जुआ और दूसरे अनियमित गैंबलिंग एप्स जो सट्टा  को बढ़ावा देते हैं उन्हें प्ले स्टोर रोकता है और पेटीएम लगातार प्ले स्टोर की नीतियों का उल्लंघन कर रहा है। गूगल के वाइस प्रेसिडेंट Suzanne Frey ने कहा है कि गूगल प्ले इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यह हमारे ग्राहकों को एक सुरक्षित एहसास देता है इसके साथ ही डेवलपर्स को ऐसा प्लेटफॉर्म मुहैया कराती है जो उन्हें एक टिकाऊ बिजनेस का अवसर मुहैया कराता है। 


 हम अपनी वैश्विक नीतियों को हमेशा ऐसे तैयार करते हैं जिसे सभी पक्षों का ख्याल रखा जाता है।  गेम्ब्लिंग पॉलिसी को लेकर भी हमारा यही उद्देश्य होता है।  हम किसी भी ऑनलाइन जुआ और दूसरे अनियमित गैंबलिंग एप्स जो सट्टा को बढ़ावा देते हैं उनकी अनुमति नहीं देते हैं।  


अगर कोई ऐप ग्राहकों को किसी बाहरी लिंक पर ले जाता है और जहां किसी Paid Turnament या नगदी जीतने का ऑफर किया जाता है तो यह हमारे नियमों का उल्लंघन है।  


लेकिन पेटीएम ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है कि "प्रिये PayTm users, PayTm  एंड्रॉयड एप गूगल एप स्टोर पैर नए  डाउनलोड और अपडेट की वजह से उपलब्ध नहीं है जल्दी यह वापस आएगा।  आपके पैसे पूरी तरह से सुरक्षित है और आप अपना पेटीएम एप पहले की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। 


नवंबर 2016 में जब देश में अचानक नोटबंदी की घोषणा हुई तब पेटीएम का व्यापार भी अप्रत्याशित रूप से ऊपर उठा था।  साल 2010 में इस कंपनी की शुरुआत नगदी रहित लेनदेन के विकल्प के रूप में हुई थी।  लेकिन भारतीय उपभोक्ताओं की नगदी पर अधिक निर्भरता के कारण उसे काफी कठिन थी।  ६ सैलून के इसके 12.5 करोड उपयोगकर्ता थे।  हालांकि इसे छोटी दुकान और व्यापारियों के साथ जोड़ भी दिया गया लेकिन फिर भी लेनदेन की संख्या काफी कम रही थी।  

लेकिन नोटबंदी की घोषणा के 3 महीने बाद ही इसके उपयोगकर्ताओं में 50 फ़ीसदी की बढ़ोतरी हुयी !






 

Post a Comment

0 Comments